न्यूनतम स्कोर को बचाने में सफल भारत और न्यूजीलैंड की हार न मानने की जिद।





बारिश की वज़ह से बाधित मैच जब आउटफील्ड के खेलने लायक हो जाने पर शुरू हुआ तो ओवर 20 से घटकर 8 हो गए थे। दोनों टीम के कप्तान चाह रहे थे कि पहले वो फील्डिंग करें, मगर टॉस न्यूजीलैंड जीतता है और वो भारत को पहले बैटिंग के लिए आमंत्रित करता है।

ट्रेंट बोल्ट पहला ओवर लेकर आते है, पहली बॉल पे एक रन लेकर रोहित नॉन स्ट्राइक एन्ड पे चले जाते है। बाद की दो मिश्रित डिलीवरी पे धवन छकते है फ़िर कवर में चौका जड़ देते है। अगला ओवर लेकर आते है अनुभवी टिम साउदी। एक तेज़ गेंदबाज ऑफ कटर का इतना तगड़ा फन जानता है, यक़ीन नहीं होता। साउदी अपने दो ऑफ़ कटर पर रोहित और धवन को सैंटनर के हाथों कैच आउट करा देते है, वही सैंटनर जिन्होंने न्यूजीलैंड के इस दौरे के हर एक मैच में एक कैच जरूर छोड़ा था।

कोहली और अय्यर आते है बल्लेबाजी करने। कोहली सोढ़ी की शार्ट लेंथ डिलीवरी पे एक चौका जड़ते है और फिर फ्लाइट डिलीवरी पे लॉन्ग ऑन पे एक छक्का जड़ देते है। मगर उसी ओवर में लॉन्ग ऑन पे ही अपना कैच दे बैठते है।

इसी बीच श्रेयस अय्यर भी कैच आउट हो जाते है। मनीष पांडे और पांड्या मिलकर पारी को आगे बढ़ाते है। मनीष पांडे भी लॉन्ग ऑन पे एक शानदार हिट मारते है। लास्ट ओवर लेकर ट्रेंट बोल्ट फ़िर आते है। ओवर की दूसरी बॉल पे वो छक्का जड़ने के प्रयास में बाउंड्री लाइन पर हवा में उड़ते हुए सैंटनर के हाथों में अपना कैच देते है जो ग्रैंडहोम की मदद से पांडे को कैच आउट करा देते है। 8 ओवरों के बाद टीम का स्कोर 67 रन होता है।



अब बारी आती है न्यूजीलैंड की बल्लेबाजी करने की। भुवी पहला ओवर लेकर आते है, हालाँकि वो एक छक्का पाते है। मगर वापसी करते हुए अपनी इनस्विंग डिलीवरी पे गुप्टिल को बोल्ड मार डालते है।

अगला ओवर लेकर आते है बुमराह, जो बेहद किफायती गेंदबाजी कराते है और इन्फॉर्म मुनरो को रोहित शर्मा के हाथों कैच आउट कराकर न्यूजीलैंड को जोर का झटका धीरे से देते है। इसके बाद केन विलियम्सन और फिलिप्स बैटिंग के लिए आते है।

तीसरा ओवर चहल लेकर आते है और बेहद किफायती गेंदबाजी कराते है। अगला ओवर लेकर आते है कुलदीप यादव, जिनके ओवर में फिलिप्स दो चौके जड़ देते है। मगर वो भी जल्द आउट हो जाते है।

चहल अपने दो ओवर में मात्र आठ रन देते है। सातवां ओवर लेकर बुमराह आते है, जो ओवर समाप्ति पे 2 ओवर में मात्र 9 रन देकर 2 विकेट के साथ अपना बॉलिंग सेशन ख़त्म करते है। एक बार फिर भारतीय कप्तान और धोनी की जोड़ी चौकाती है।

आखिरी ओवर कराने के लिए पांड्या को कप्तान भेजते है। एक ओवर 19 रन और बॉलिंग पे पांड्या। सामने सैंटनर और ग्रैंडहोम बल्लेबाजी के लिए होते है। ग्रांडहोम पांड्या की बॉल पे एक शानदार छक्का भी जड़ते है। मगर टीम की हार को नहीं टाल पाते। और भारत ये मैच 6 रन से जीत जाता है। इस प्रकार कोहली का जीत का अश्वमेध यज्ञ अभी भी नहीं रूका है।


Comments