जब अमित शाह ने बचपन मे अपने पिता जी का स्कूटर चुरा कर बेच दिया था।




अभी हाल ही में अमित शाह  53 साल के हुए हैं। उनके बारे में तमाम पोर्टलों ने खूबहै, लेकिन मैं जो आपको बताने जा रहा हूँ, यह बात आपको ये मीडिया कभी नही बताएगा। यह वाकया मेरे संघ के दिनों में एक साथी ने बताया था। वाकया सुनिए !

बात 1981 की है। भाजपा तब नवजात शिशु हुआ करती थी।अमित शाह उस समय सिर्फ 17 साल के थे। बचपन से ही वह अपनी चालबाजियों के चलते दोस्तों के बीच खासे लोकप्रिय थे। नए रिश्ते बनाने और बने बनाये तुड़वाने में उन्हें कमाल की काबिलियत हासिल थी। बताते हैं कि वह अपने दोस्तों के दुश्मनों के प्रेम सम्बन्ध तुड़वाने के लिए गजब की रणनीतियां बनाया करते थे। ऐसे ही  दोस्ती ओर माहौल के बीच हमारा आज का रणनीतिकार बड़ा हो रहा था।

उन्ही दिनों की बात है। प्रेमिका की बढ़ती मांगों से वह परेशान थे। यह क्लियर नही है कि यह उनकी खुद की प्रेमिका थी या दोस्त की प्रेमिका को खुश रखने के लिए उसकी मदद करना चाहते थे। कहा यह भी जाता है कि संघ की स्थानीय शाखा को पैसे ही शख्त जरूरत थी।कुल मिलाकर वजह जो भी हो, अपने अमित शाह को अर्जेंट पैसे चाहिए थे। पैसे मिलने की कोई जुगत भिड़ती दिख नही रही थी और अमित बचपन मे ही  अपना हाँथ गन्दा करना भी नही चाह रहे थे। 

ऐसे ही दिन, एक रोज उनकी नजर घर के आंगन में खड़े पुराने स्कूटर पर पड़ी। बजाज कम्पनी का यह स्कूटर उनके पिता जी अनिल चन्द्र शाह ने 1961 में खरीदा था। पिता जी उसका इस्तेमाल भी यदा -कदा करते थे। अमित शाह ने अपने चार दोस्तों के साथ मिलकर इस स्कूटर को चोरी करने की रणनीति बनाई। तय ये हुआ कि अमित शाह घर से बाहर स्कूटर ले कर किसी काम के बहाने  से निकलेंगे। बाद में उनके दोस्त स्कूटर लेकर फुर्र हो जाएंगे और पिता जी को यह बता दिया जाएगा कि स्कूटर रास्ते मे उनसे बदमाशों ने छीन लिया है। इस योजना पर अमल हुआ । स्ट्रेटजी काम कर गयी और अपने अमित को पैसे मिल गए। दोस्तो  ने भी इस बात की दाद दी कि दोस्त आगे चल कर देश के लिए कुछ बड़ा जरूर करेगा।

मैन जब यह सुना तो मुझे यकीन नही हुआ। मैने गूगल पर जब 'अमित शाह+चोरी+स्कूटर' जैसे की वर्ड टाइप किये, तब भी कुछ हाँथ नही लगा। मुझे मालूम चला कि यह वाकया पूरी तरह फेक है। मैन एक बार उस लड़के से पूछा भी, कि तुम्हे यह बात किसने बताई। उसने हंसते हुए कहा कि राजनेताओं का मजा लेते रहना चाहिए। मुझे यह बात अच्छी नही लगी। इस तरह से मजा लेना अच्छी बात नही है। यह आदमी की छवि का सवाल है। माना कि अमित शाह एक विवादित आदमी हैं। दंगे कराने से ले कर गुजरात मे एक लड़की का पीछा कराने तक के आरोप उन पर लगे हैं, पर आप ही सिचिये, आपको कैसा लगेगा, जब आपको पता चलेगा कि जिस पार्टी की सरकार है, उसके राष्ट्रीय अध्यक्ष ने अपने ही पिता जी का पुराना स्कूटर झेल कर बेच दिया था।

By - आशुतोष तिवारी

फ़ोटो क्रेडिट - Cry Bytes


Comments