BHIMAKOREGAON - कौन है संभाजी भीड़े जिनपर महाराष्ट्र में हिंसा फैलाने का केस दर्ज हुआ है।


YouTube


महाराष्ट्र का वो नेता जिसने अभी तक अपना खुद का घर नहीं बनाया। जिसने अभी तक कार में सवारी नहीं की। जो आज भी बगैर चप्पल के रहता है और अपने फॉलोवर्स के पास खुद मिलने जाता है। चर्चा ये भी है कि संभजी भीड़े ने आज तक अपने किसी फॉलोवर्स से  चंदा तक नहीं मांगा और न ही पार्टी से कभी फंड की मांग की। 

ये महाराष्ट्र के जाने माने नेता है संभाजी भीड़े। संभाजी भीड़े 85 वर्ष के है। वह मराठा सम्राट छत्रपति शिवाजी के अनुयायी हैं और उनके भी भारी संख्या में युवा फॉलोअर्स हैं। उनकी महाराष्ट्र के कोलहापुर में शिव प्रतिष्ठान नाम की संस्था है। वह उन नेताओं में शामिल हैं, जिन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और महाराष्ट्र के कई अन्य नेता भी पसंद करते हैं।

ये बात को सुन कर आपके कान में सन्नाटा जरूर पसरेगा। संभाजी भीड़े जी ने अटॉमिक साइंस में मास्टर्स की है। उन्होंने पुणे के प्रतिष्टित विश्विद्यालय से ये डिग्री हासिल की है।
वह पुणे के फर्ग्युसन कॉलेज में प्रोफेसर भी रह चुके हैं। डिग्री पूरी होने के बाद उन्हें गोल्ड मेडल से नवाजा गया था। 

Credit- Google


कभी कार में नहीं चलते

सांबाजी भिड़े ने कभी कार में यात्रा नहीं की और ना ही कभी आराम करने के लिए किसी जगह पर रुके। वह हमेशा घूम-घूमकर अपने फॉलोअर्स से मिलकर मुद्दों पर बातचीत करते रहते हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक महाराष्ट्र की वर्तमान युवा जनसंख्या उन्हें अपना आदर्श मानती है और भिड़े के एक इशारा पर 4-5 लाख युवा एक जगह जमा हो सकते हैं।

आपको बता दे कि पुणे के भीमा - कोरेगांव में हाल ही में हुई जातीय हिंसा पूरे महाराष्ट्र में फैल चुकी है। हिंसा फैलाने का आरोप मंगलवार को दो हिंदूवादी नेताओं पर लगाया गया है। जिनमें राज्य के शिव प्रतिष्ठान हिंदुस्तान के जानेमाने नेता संभाजी भिड़े और समस्त हिंदू आघाडी के मिलिंद एकबोटे के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

Credit - Mumbai mirror


संभाजी भिड़े पर भीमा-कोरेगांव की लड़ाई की 200वीं वर्षगांठ के दौरान हिंसा फैलाने का आरोप लगा है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि संभाजी भिड़े आखिर हैं कौन? भिड़े महाराष्ट्र के जाने-माने नेता हैं। वह मराठा सम्राट छत्रपति शिवाजी के अनुयायी हैं और उनके भी भारी संख्या में युवा फॉलोअर्स हैं। उनकी महाराष्ट्र के कोलहापुर में शिव प्रतिष्ठान नाम की संस्था है। वह उन नेताओं में शामिल हैं, जिन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और महाराष्ट्र के कई अन्य नेता भी पसंद करते हैं।






By - सूरज मौर्या





Comments