सबलोग अपना DP बदलो, भैयाजी की शादी है।



हिंदी डाकिया अपने सभी पाठकों से इस लेख को  देरी से प्रकाशित करने के लिए माफ़ी मांगता है। 
------------------------------------------------------

शादियां होती रहती है, उसमें कोई नई बात नहीं है और जिसकी शादी होती है वो और उसके परिवार वाले, रिश्तेदार और उसके दोस्त, सभी खुशी मनाते हैं। सही है, इसमें कोई बुराई नहीं है। जब शादी किसी पैसेवाले, फिल्म स्टार, सेलेब्रिटी या नेता के घर में होती है तो मीडिया भी उसमें दिलचस्पी लेता है और बाकी जनता भी लेती है। अच्छी कवरेज होती है, मेहंदी से लेकर हनीमून तक।

12 मई को लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव की शादी है, जिसको लेकर एक मीडिया हाउस इतना उत्साहित है कि शायद उतना खुद लालू यादव भी नहीं होंगे क्योंकि बेचारे परोल पर छूटकर तो बेटे की शादी में पहुंच रहे हैं

इस चैनल ने अपने फेसबुक पेज का कवर पेज ही तेज प्रताप यादव की शादी के नाम कर दिया है। 

बाकायदा दूल्हा दुल्हन की तस्वीर की साथ सुसज्जित किया है कवर पेज को और पल-पल की खबर मिल रही है। आपको भी उपडेट लेना हो तो फ़ौरन जाइए पेज पर विजिट करिए।

शादी है बड़े आदमी की, खबर है! कवर करने में बुराई नहीं है लेकिन प्रमोशन करने को इतने उतावले क्यों हैं ये समझ नहीं आ रहा। क्या वहां से कोई प्रसाद मिलने वाला है ? क्या देश में कोई और बड़ी खबर नहीं है या है भी तो ज़रूरी नहीं है।


फ़ोटो - फर्स्ट पोस्ट

एक चैनल द्वारा किसी व्यक्ति के शादी समारोह को अपना कवर फोटो बनाना कई चीज़ो की ओर से आगाह करता है कि मीडिया को महत्वपूर्ण और ज़रूरी मुद्दों से कुछ खास फर्क नहीं पड़ता है, उसे भी किसी न किसी की नज़र में अच्छा बच्चा बनना है जो ज़्यादा बदमाशी नहीं करता। जो आदेश मिले उसका चुपचाप पालन करे और बीच-बीच में कभी कभी टॉफी मिल ही जाएगी।

तो टॉफी खाओ और चुप रहो, बाकि चीज़ो के लिए ज़िद मत करो।


तो चलो भाई सब लोग अपना अपना DP बदलो। भैयाजी जी को शादी मुबारक!      






Comments