मुंबई में रिक्क्षावाले ने लौटाये एक लाख पच्चीस हजार रुपये और एक सोने की चैन।





मुम्बई में आज भी कुछ ऐसे ईमानदार 
रिक्क्षा हैं,जो मेहनत की कमाई से अपना घर चला सकते हैं, लेकिन बेईमानी और भूल से भी मिले लाखों रुपये का उपयोग नही करते हैं।

बोरीवली में रहने वाली करिश्मा जैन नाम की एक महिला 16 जुलाई 2018 को बोरीवली से भायंदर जाने के लिये रिक्क्षा पकड़ी और लाखों रुपयों से भरा बैग रिक्क्षा के पीछे वाले डिक्की में रख दी,रात के करीब 8 बजे वह भायंदर पहुँच कर बिना बैग लिए ही उतर गयी और रिक्शा वाला भी वहाँ से निकल गया था।

कुछ दूर जाने के बाद महिला को अचानक रुपयों से भरा बैग की याद आयी , लेकिन तबतक बहुत देर हो चुकी थी और रिक्क्षा वाला भी जा चुका था,  बैग में 1,25000 हजार रुपए और एक सोने की चेन थी।

करिश्मा ने पहले तो रिक्क्षा वाले को बहुत देर तक ढूंढा और जब वह नही मिला तो भायंदर पोलीस चौकी जाकर शिकायत दर्ज कराई।

वही दूसरी तरफ रिक्सा चालक अतुल मनोहर बोरड जब अपने घर रात  क़रीब 10 बजे पहुँचा और रिक्क्षा खड़ा कर जांच किया तो उसको रुपयों से भरा एक बैग पीछे डिक्की में मिला।

जिसके बाद रिक्क्षा ड्राइवर लाखों रुपया देख हैरान हो गया और पैसों की बैग लेकर राष्ट्रवादी ऑटो - टैक्सी चालक मालक  यूनियन के ऑफिस में पहुचे, यूनियन  के अध्यक्ष ईबी मुल्ला और इसाक मुल्ला को उक्त जानकारी दी, फिर सबने मिलकर बोरीवली पुलिस स्टेशन में इसकी जानकारी दी, पुलिस ने करिश्मा जैन को इस बारे में तुरंत सूचित किया और आज सुबह वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक लक्ष्मण दुम्बरे ने अपने हाथों से महिला का पैसा व सामान लौटाया, साथ ही रिक्क्षा वाले कि ईमानदारी की तारीफ भी किये।








Comments