सवाल पूछने पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ब्लॉक क्यों करती हैं ?

By - नवनीत मिश्रा 


सुषमा से सवाल पूछना मना है, इस सहिष्णुता के लिए शुक्रिया मैडम!

फ़ोटो - द वायर

सुषमा स्वराज का बचपन से प्रशंसक रहा हूँ। उनकी वाकपटुता का कायल।सोशल मीडिया पर कई बार उनकी प्रशंसा भी की। ट्विटर पर जिस द्रुति गति से कई बार उन्होंने भारतवंशियों की तकलीफ़ें दूर कीं, उसकी कभी लिखकर तो कभी यार-दोस्तों और बड़े बुज़ुर्गों से चर्चा कर तारीफ की। मगर मुझे लगता है कि उनको लेकर बहुत कुछ भ्रम भी पाल बैठा था, जो अब दूर हुआ है। वह ख़ुद को आलोचनाओं से परे मानती हैं।अगर आप उनके लिए ताली नहीं बजाते तो कम से कम ख़ामोश रहिए, मगर क्या मजाल कि आपने उनसे जो टेढ़ा सवाल कर दिया। बदले में मैडम ब्लॉकास्त्र चलाएँगी। 



पासपोर्ट विवाद पर दो दिन पहले मैंने एक खबर लिखी। जिसमें मैंने सुषमा के उस दावे का पोस्टमार्टम किया।जिसमें विदेश से लौटने पर उन्होंने कहा था कि वह पूरी घटना से अन्जान रहीं थीं। उनका कोई लेना-देना नहीं था। मैंने ट्विटर स्क्रीनशॉट के सुबूतों के साथ एक खबर की। जिसमें बताया कि पूरे मामले में सुषमा के निजी सचिव विजय द्विवेदी और सेक्रेटरी पासपोर्ट डी.एम मुले की भूमिका रही। दोनों अफसरों के मैसेज के स्कीनशॉट लगाए। बताया कि आनन-फ़ानन में इन्हीं के कहने पर तन्वी को पासपोर्ट जारी हुआ और विकास का ट्रांसफ़र। मैंने खबर में सवाल उठाए कि क्या निजी सचिव बिना मंत्री के संज्ञान में लाए किसी मामले में संबंधित प्राधिकारी को कार्रवाई के लिए कह सकता है? 

मैंने ट्विटर पर न तो सुषमा जी को ट्रोल किया और न गाली दी। (आप ट्विटर हैंडल @navneetmishra99चेक कर सकते हैं) 



ख़ैर, ट्विटर पर खबर खूब वायरल हुई। आज पता चला कि उन्होंने ब्लॉक कर दिया है।इसी खबर के आधार पर जब 
Prashant भाई ने सुषमा से सवाल कर स्थिति साफ करने को कहा तो उन्हें भी ब्लॉक किया। 

चलिए मैंने खबर लिखी तो आपने ब्लॉक कर दिया। कोई बात नहीं। पिछले साल इंडिया टीवी में विदेश मंत्रालय कवर करने वाले Manish Jha जी ने एक सवाल सुषमा से ट्वीट पर पूछ लिया था तो उन्हें भी मैडम ने ब्लॉक कर दिया। मनीष झा का क़ुसूर था कि उन्होंने विदेश में फँसे एक परिवार की मदद न करने पर क्रास क्वेश्चन  पूछ लिया था, जिससे मैडम ने ग़ुस्से  में आकर ब्लॉक कर दिया। 

मुझे हँसी आती है कि गालीबाजों को ब्लॉक करने की जगह उनकी पोस्ट लाइक कर ख़ुद विक्टिम बन रहीं और किसी को सिर्फ दावों को झुठलाती खबर लिखने और सवाल पूछने पर ही ब्लॉक कर दिया जा रहा। जववाब की जगह ब्लॉक कर पलायन क्यों? 

यही सुषमा जी संसद में भारतीय सहिष्णुता पर बहुत भाषण देती रहीं हैं मगर ख़ुद को आलोचनाओं से परे मानने वाली मैडम की सहिष्णुता गजब की है। 


संबंधित खबर का लिंक यहाँ पढ़े ---





नोट - यह घटना खुद लेखक के साथ घटित हुई हैं जो खुद एक पत्रकार हैं।





Comments