इस कुत्ते ने जैकी श्रॉफ की फ़िल्म तेरी मेहरबानियां की याद दिला दी।





आप सभी ने जैकी श्रॉफ और पूनम ढिलोन की फ़िल्म "तेरी मेहरबानियां" तो देखी होगी। ये फ़िल्म 1985 में आयी थी जिसे लोगों ने काफ़ी प्यार दिया था। फ़िल्म के निर्देशक विजय रेड्डी थे।

फ़िल्म के नायक जैकी श्रॉफ को सड़क दुर्घटना में कुत्ता मिलता हैं। जिसे वो अपने घर ले आते हैं। फिर उनके बीच दोस्ती का ऐसा रिश्ता बनाता है जिसे देख सभी के आंखों में आँसू आ जाते हैं।

कुछ ऐसा ही हुआ हैं मध्यप्रदेश के सागर जिले में। सागर जिले के मोतीनगर में एक कुत्ते की समझदारी ने अपनी नाबालिग मालकिन की इज्जत को बचा लिया।

घर से बाहर घास लेने निकली इस दलित किशोरी को गांव के ही रहने वाले ऐशू अहिरवार (39) और उसके साथी पुनीत अहिरवार (24) ने शुक्रवार की रात दबोच लिया और बलात्‍कार करने की कोशिश करने लगे।

नाबालिग अपने घर से बाहर घास फूस लेने आई थी, जिसे जलाकर अपने घर के मच्छर भगाना चाहती थी तभी मौका देख आरोपित युवकों ने नाबालिग को चाकू की नोक पर दबोच लिया और पास के ही सुनसान इलाके स्थित एक झोपड़ी में ले गये। इस वाक्‍ये से घबराई किशोरी ने मदद के लिए चीखना-चिल्‍लाना शुरू कर दिया, जिसे सुनकर घर का पालतू कुत्‍ता आ गया और अपनी मालकिन की इजजत खतरे में देख बलात्कार करने वालों से भिड़ गया।


इस दौरान उसने एक आरोपित ऐशू को काट भी लिया।

कुत्‍ते की इस वफादारी को देख दोनों आरोपित घबरा गए और पीड़ित किशोरी को छोड़ वहां से फरार होने की कोशिश करने लगे। इसी बीच कुत्‍ते और लड़की की चीख-पुकार सुन उसके परिजन और गांव वाले भी घटनास्‍थल की ओर भागे। हालांकि फरार होने से पहले आरोपितों ने कुत्‍ते पर धारदार हथियार से हमला कर उसे घायल कर दिया लेकिन इसके बावजूद उसने मुकाबला करना नहीं छोड़ा और उन्‍हें खदड़ने के बाद ही दम लिया।


मोतीनगर पुलिस थाना प्रभारी विपिन ताम्रकार ने बताया कि ,शनिवार को पीड़िता एवं उनके परिजन की शिकायत पर दोनों आरोपियों के खिलाफ बलात्कार और अन्य धाराओं के तहत मोतीनगर पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया है और दोनों आरोपियों को पुलिस ने रविवार को गिरफ्तार भी कर लिया है।















Comments