प्राकृतिक आपदाओं से भारत को 5.8 लाख करोड़ का नुकसान

By - हिंदी डाकिया

www.hindidakiya.com

प्राकृतिक आपदाओं से भारत को 5.8 लाख करोड़ का नुकसान 

संयुक्त राष्ट्र ने अपने एक रिपोर्ट में जानकारी दी है की वातावरण और जलवायु परिवर्तन की वजह से आई प्राकृतिक आपदाओं के कारण भारत को पिछले 20 सालों में 5.8 लाख करोड़ रुपए का आर्थिक नुकसान हुआ है। 

इस रिपोर्ट को संयुक्त राष्ट्र के आपदा जोखिम में कमी लाने के लिए काम करनेवाले विभाग ने तैयार किया है। “1998 – 2017 – आर्थिक नुकसान, गरीबी और आपदा” शीर्षक वाली इस रिपोर्ट में प्राकृतिक आपदाओं की वजह से वौश्विक अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले प्रभाव का अध्यन किया गया है। इसमें जलवायु परिवर्तन से होनेवाले महत्वपूर्ण बदलाव या मौसमी घटनाओं होने वाले बदलाव का समावेश किया गया है। 
1998 से 2017 के बीच जलवायु परिवर्तन की वजह से आनेवाले प्राकृतिक आपदाओं से वैश्विक अर्थव्यवस्था को 2,908 अरब डॉलर का सीधा नुकसान हुआ है। जो की पिछले दो दशकों में हुये नुकसान से दोगुना अधिक है। इस रिपोर्ट में पहले के नुकसान के मुक़ाबले इस बार 151 फीसदी की बढ़ोत्तरी दर्ज़ की गयी है। 

10 अक्टूबर को संयुक्त राष्ट्र ने इसे जारी किया था। भारत के अलावा अमेरिका को  944.8 अरब डॉलर, चीन को 492.2 अरब डॉलर, जापान को 376.3 अरब डॉलर, भारत को 79.5 अरब डॉलर और प्यूर्तो रिको को 71.7 अरब डॉलर का नुकसान हुआ है। 

बाढ़, तूफान और भूकंप से होने वाले आर्थिक नुकसान में यूरोप के तीन देश शीर्ष पर हैं, इसमें इटली को 56.6 अरब डॉलर, जर्मनी को 57.9 अरब डॉलर और फ्रांस को 48.3 अरब डॉलर का नुकसान हुआ है।






Comments