मुंबई यूनिवर्सिटी ने 35000 विद्यार्थियों को गलत तरीके से फेल किया

By - हिंदी डाकिया

www.hindidakiya.com

मुंबई यूनिवर्सिटी ने 35000 विद्यार्थियों को किया फेल

एक आरटीआई में खुलासा हुआ है कि साल 2017 में 1 लाख 81 हजार विद्यार्थियों में 97 हजार विद्यार्थियों को फेल कर दिया गया था। फेल हुए छात्रों ने रीचेकिंग अर्थात पुनर्मूल्यांकन के लिए आवेदन किया,जिसमें से 35000 विद्यार्थियों को पास कर दिया गया। इस खुलासे के बाद से मुंबई विश्वविद्याल के प्रति छात्रों का विश्वास कम हुआ है।

आरटीआइ कार्यकर्ता विहार धुर्वे ने कहा है कि इस खुलासे के बाद से मुंबई विश्वविद्याल के प्रति छात्रों का विश्वास कम हुआ है।

2016 में भी 45 हजार छात्रों को फेल किया गया था

वर्ष 2016 में करीब 44,441 आवेदकों ने पुनर्मूल्यांन के लिए आवेदन किया था, तब लगभग16,934 विद्यार्थियों ने परीक्षा पास कर ली थी। ठीक इसी तरह से 2014 में 80 हजार विद्यार्थियों ने पुनर्मूल्यांकन के लिए आवेदन किया था।

इसके पहले भी वर्ष 2012 में 68,653 छात्रों ने पुनर्मूल्यांन के लिए आवदेन किया था, तब 14,586 लोगो को पुनर्मूल्यांन के बाद पास कर दिया गया था। वर्ष 2013 में भी 43,256 विद्यार्थियों ने शक के तौर पर आवेदन किया था,जिसमें से 10,509 ने पुनर्मूल्यांकन के बाद परीक्षा पास की।









Comments