"ठांय-ठांय" करनेवाले दरोगा होंगे सम्मानित





मुँह से "ठांय-ठांय"की आवाज़ निकालने वाले दरोगा होंगे सम्मानित


12 अक्टूबर को संभल जिले में इनामी बदमाश और पुलिस की के बीच मुठभेड़ हुई थी। मुठभेड़ के दौरान दरोगा की पिस्तोल काम नहीं कर रही थी तब दरोगा ने मुँह से  "ठांय-ठांय" की आवाज़ निकाली जिसका वीडियो वायरल हो गया। 

अब संभल के SP ने दरोगा और बाकी पूरी टीम को सम्मानित करने का ऐलान किया है। SP ने मीडिया को बताया कि दरोगा "ठांय-ठांय" की आवाज़ निकाल कर अपने सारे सहकर्मियों को प्रोत्साहित कर रहा था।

ये है पूरा मामला

पश्चिमी उत्तर प्रदेश का संभल इलाका, 12 अक्टूबर को उत्तर प्रदेश पुलिस यहाँ एक नामी बदमाश का पीछा करते - करते गन्ने की खेत में पहुँच गई। लगभग एक दर्जन पुलिस ने बदमाश को यहाँ घेर लिया। लेकिन बदमाश खेत के अंदर था और खुद को बचाने के लिए वो पुलिस पर गोली चला रहा था। इसके बाद पुलिस ने भी गोली चलानी शुरू कर दी। 

बाकी पुलिस वालों की बंदूक से गोली निकल रही थी पर दरोगा के की बंदूक से भरकस कोशिश करने के बाद भी गोली नहीं निकल रही थी। इसलिए  बदमाश को डराने के लिए दरोगा अपने मुँह से ही "ठांय-ठांय" की आवाज़ निकालने लगा। इसके बाद मुठभेड़ का वीडियो सोशल मीडिया पर मिसाईल की गति से वायरल होने लगा।


असमोली थाने की पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ हुई। पुलिस ने 25 हजार का इनामी घायल बदमाश को गिरफ्तार कर लिया। जबकि बदमाश का दूसरा साथी अंधेरे का फायदा उठाकर भागने में फरार हो गया। पुलिस इनामी बदमाश से पूछताछ कर रही है। गिरफ्तार बदमाश के पास से लूट की स्कार्पियो सहित 315 बोर तमंचा और 5 जिंदा कारतूस बरामद किए गए हैं। बदमाश मुदित शर्मा पर एक दर्जन से अधिक संगीन मामलों के केस दर्ज है।

वीडियो का गलत भाव निकाला गया

एसपी संभल यमुना प्रसाद का कहना है कि कॉम्बिंग में पुलिस द्वारा पकड़ लो, घेर लो की आवाज निकाली गई। एक पुलिसकर्मी के हथियार में अचानक दिक्कत हुई, जिसमें दूसरे पुलिसकर्मी द्वारा ठांय ठांय की आवाज निकाली गई। उन्होंने कहा कि इस मामले में पुलिसकर्मियों को प्रशिक्षित किया जाएगा। लेकिन इस वीडियो को गलत तरीके से पेश किया है। 



Comments