पीरियड्स के नाम पर बनी प्रथा ने 12 साल की लड़की की जान ले ली



www.hindidakiya.com
Photo - The news minute

तमिलनाडु में 12 साल की बच्ची की मौत महज पीरियड की वजह से समाज में मौजूद प्रथा से हुई। लड़की का नाम विजया है। विजया 7 वी क्लास में पढ़ती थी। विजया अपने परिवार के साथ तमिलनाडु के अनिकडु गांव में रहती थी।

12 नवंबर को उसे पहली बार पीरियड्स आए। इसके बाद घर वालों ने घर में उसकी एंट्री बंद कर दी। घर वालों के अनुसार अब वो अशुद्ध हो गयी थी। वहां के प्रथा के अनुरूप उन्हें विजया को 16 दिन घर से बाहर रखना था। विजया को घर से बाहर रखने के लिए उन्होंने घर के बाहर ही एक झोपड़ी बना दी। अब इस झोपड़ी में विजया को 16 दिनों तक रहना था वो भी अकेले। 

तारीख 16 नवंबर और विजया की मौत

16 की रात भी विजया झोपड़ी में सो रही थी।  बाहर तेज हवाएं चल रही थीं, क्योंकि इलाके में चक्रवात दस्तक देने वाला था। दरअसल, मौसम विभाग ने पहले ही लोगों को चेतावनी जारी की थी और घर की अंदर ही किसी सुरक्षित स्थान पर रहने की अपील की थी। लेकिन इसके बावजूद विजया के घरवालों ने उसे झोपड़ी में ही छोड़ दिया।

द न्यूज़ मिनट में छपी खबर के अनुसार, " पीरियड्स के दौरान यहाँ लड़कियों को अलग घर में रखना आम बात है। इस बारे में कोई कुछ नहीं कहता।"








Comments