मर्डर कर के आना, हम देख लेंगे



www.hindidakiya.com

यूपी के जौनपुर स्थित वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल यूनिवर्सिटी के कुलपति ने एक कार्यक्रम के दौरान विवादित बयान दे दिया। वाइस चांसलर राजाराम यादव ने कहा, अगर इस यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट हो तो पिटकर नहीं पीटकर आना। जरूरत पड़े तो मर्डर कर देना, हम देख लेंगे। कुलपति के इस बयान की हर जगह आलोचना हो रही है।

राजा राम यादव का विवादित बयान देखिए:

क्लिक करें - लिंक

राजाराम यादव कौन है 

राजाराम यादव रहने वाले उत्तर प्रदेश के ही महोबा जिले के हैं। वहीं से स्कूलिंग के बाद की पढ़ाई-लिखाई मसलन बीएससी, एमएससी इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से की।1988 में पीएचडी की। वो भी कोई हल्के-फुल्के सब्जेक्ट में नहीं। फिजिक्स में पीएचडी। गोल्ड मेडलिस्ट रहे। 1992 में महात्मा गांधी चित्रकूट ग्रामोदय विश्वविद्यालय में बतौर लेक्चरर भर्ती हुए। 1996 में इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में असोसिएट प्रफेसर बने। 2004 में प्रफेसर हो गए। 

www.hindidakiya.com

2017 में लगा जैकपॉट। उन्हें वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय, जौनपुर के कुलपति बना दिया गया। ठीक यूपी में बीजेपी सरकार बनने के बाद। इन सबके बीच बता दें कि राजाराम यादव शुरू से ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े रहे हैं। प्रचारक रहे हैं। पूर्व संघ चालक राजेंद्र सिंह(रज्जू भैया) के करीबी रहे हैं। मुरली मनोहर जोशी ने भी इनकी पढ़ाई-लिखाई में मदद की है। (सोर्स - द लल्लनटॉप)

राजाराम यादव की सफाई 

राजाराम यादव की उनके बयान पर सफाई भी आ गई है। वो बोले कि मेरी बोलने की शैली ही कुछ ऐसी है। उनकी बातों को तोड़ मरोड़ के पेश किया गया। मैं तो छात्रों को बहादुर बनाने की बात कर रहा था। मेरे विचार साहित्यिक भाषा में थे। हमने कहा कि जो छात्र संकल्प लेकर पूरा करता है, उसी को पूर्वांचल विश्वविद्यालय का छात्र कहते हैं।








Comments