प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिए बंद करवाया गया था लालचौकी श्मशान घाट



www.hindidakiya.com

कल्याण मेट्रो भूमि पूजन के लिए बंद करवाया गया था लालचौकी श्मशान घाट

18 दिसंबर 2018 को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लगभग 4 साल बाद एक बार फिर महाराष्ट्र के ठाणे जिले के कल्याण शहर में मौजूद थे। इसके पहले वो 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान कल्याण में प्रचार करने आये थे।

प्रधानमंत्री के आने से पहले ही शहर को एका एक सरकारी कर्मचारियों और KDMC (कल्याण-डोम्बिवली महानगर पालिका) के कर्मचारियों द्वारा चमकाने का काम होने लगा था। लोकल ट्रेन में सफर करने वालों से सुनने में आया था कि फडके मैदान जहाँ प्रधानमंत्री ने अपना भाषण दिया, उस मैदान के आस - पास बड़े - बड़े पेड़ों को भी लगा दिया गया था।

www.hindidakiya.com

ठाणे की एक लोकल वेबसाइट (लोकल न्यूज़ नेटवर्क-LNN) में छपी खबर के अनुसार कल्याण में प्रधानमंत्री के आने से पहले प्रशासन द्वारा फडके मैदान के पास स्थित लालचौकी श्मशान भूमि को बंद करा दिया गया था। प्रशासन के अनुसार प्रधानमंत्री के सुरक्षा के मद्देनजर ऐसा किया गया।

वेबसाइट में छपी खबर के अनुसार, प्रधानमंत्री के सभा के दौरान अगर कोई भी परिवार पार्थिव शरीर दाहसंस्कार के लिए लेकर आता है तो उन्हें बैलबजार स्थित श्मशान भूमि में दाहसंस्कार करने के निर्देश दिए गए थे। स्थानीय लोगों का मानना है कि पिछले 50 सालों में पहली बार लालचौकी श्मशान भूमि का दरवाजा बंद किया गया है।

आपको बता दें कि 18 दिसंबर 2018 को प्रधानमंत्री द्वारा कल्याण शहर में मेट्रो ट्रैन की भूमि पूजन की गई थी। 





Comments