चेंजिंग रूम में जाने से पहले ये बातें पढ़ लें


By - तान्या त्रिपाठी


www.hindidakiya.com

बचे तीसरी आँख से- हिडेन कैमरा

आज कल मॉल में बड़े स्टोरस में शॉपिंग आम बात है, तो आम बात है  हम चेंजिंग रूम का भी प्रयोग करते है। कभी-कभी इन चेंजिंग रूम में तीसरी आँख भी होती हैं। तीसरी आँख वही जो आपको रिकॉर्ड करके viral कर देती है, जैसे fab india के गोवा के  ऑउटलेट में स्मृति ईरानी ने पकड़ा था और हंगामा हुआ था।

इसका मतलब हिडेन कैमरा में आपकी सभी एक्विटीज रिकॉर्ड हो जाती है।  जरूरी नहीं की हर मॉल में ऐसा हो मगर अपनी सुरक्षा अपने हाथो में है क्योंकि ये आपके लिए, आपकी महिला मित्र,बेटी है बहन सबके लिए ये जरुरी है-

आइये कुछ तरकीबों को जानकर हम कुछ हद तक कैसे बच सकते है इन कैमरों से।

1-  जब भी किसी किसी स्टोर के चेंजिंग रूम में जाए तो अपने आसपास पहले अच्छी तरीके से देख ले कहीं कोई ऐसी चीज तो नहीं जो संदिग्ध लग रही हो या कोई ऐसा कैमरा या कुछ बटन या इस तरीके की कोई भी चीज तो नहीं है जो दीवार से लगी हो। इस तरह की चींजे ज्यादातर सामने शीशे से लगी होती है या ऊपर जहां से रोशनी आ रही है वहां लगी होती है इसलिए पहले आसपास अच्छे से जांच कर ले।

2- जब तक आप चेंजिंग रूम के बाहर होते है तब आपके मोबाइल में नेटवर्क रहता है पर चेंजिंग रूम में जाते ही आपके फोन के नेटवर्क के सभी चले जाते हैं तो इसकी संभावना है कि वहां कैमरा लगा हो सकता है इसलिए तुरंत  जगह बदल दें।

3- शीशे के सामने खड़े होकर अपने फोन से फ्लैश on करके कैमरा on करे तो अगर वो Two way mirror होगा मतलब की आपके mirror के दूसरी तरफ ऐसा कोई है जो आपको देख रहा तो उसकी तस्वीर आपके फोन में आ जाएगी। अगर वो only One way mirror है तो आपकी mirror selfie क्लिक हो जाएगी।





4-  आप अपनी उंगली शीशे में रखे अगर आपके नाखून और mirror इमेज में गैप है तो इसका मतलब वो शीशा सुरक्षित हैं अगर बिल्कुल भी गैप नही तो थोड़ा सावधान होकर वहाँ से निकालना बेहतर है।

www.hindidakiya.com


5- अपने चारो तरफ देख ले, अगर कोई भी बटन जैसी चीज दिख रही है या कुछ संदिग्ध लग रहा है तो वह जगह बदल दे।

www.hindidakiya.com

6- एक बार चेंजिंग रूम में जाने से पहले उसके बाहर सीसीटीवी कैमरा देखे कि वह किस तरफ सेट किया गया है सीसीटीवी कैमरा चेंजिंग रूम में अंदर की दिशा में लगा तो ऐसे चेंजिंग रूम का उपयोग बिल्कुल भी ना करें ऐसे में सीसीटीवी कैमरे के द्वारा आपकी सभी एक्टिविटीज उन तक डायरेक्टली पहुंच रही होती है और इसका उपयोग वे गलत साधन के लिए भी कर सकते हैं।

7- आप अपनी उंगलियो के जोड  से एक बार शीशे में tap tap जैसे हल्का सा मार कर देखे अगर वो नॉर्मल शीशा है तो हल्का और एकदम नॉर्मल साउंड होगा जबकि टू वे कैमरा होते हैं उनका साउंड अलग होगा।

8- आप बाहर है वह आपका घर नहीं है तो बेतकल्लुफ होकर कहीं पर कपड़े मत चेंज करिए उसमे भी थोड़ा सावधानी रखिये।

ये कुछ तरीके से जिससे हम इन सबसे बच सकते हैं  जरूरी नही इन तरीको से हम पूरी तरह बच सके लेकिन  इन्हे अपनाकर आने वाली समस्या को कुछ हद तक रोक जरूर सकते है।


बाकी खुश रहिये मस्त रहिये बुराई चाहे जितनी बड़ी हो मगर कभी भी वो अच्छाई से बड़ी नही होती, बुरे लोग है तो अच्छे भी है दुनिया में।




तान्या की लेखनी को उनके ब्लॉग तान्या की डायरी पर पसंद करिए।





Comments