पुलवामा हमले के बाद एयर स्ट्राइक की मीडिया रिपोर्टिंग पर रिसर्च


www.hindidakiya.com

पुलवामा हमले के बाद एयर स्ट्राइक  की मीडिया रिपोर्टिंग पर रिसर्च : - 

भारतीय मीडिया ने सूत्रों के हवाले से दिखाया है कि एयर स्ट्राइक में 300 आतंकी मारे गए हैं। अब इस मसले पर रिपोर्ट्स देखते हैं - 

पुलवामा हमले के बाद भारत ने आधिकारिक रूप से क्या कहा- 

"वायुसेना ने नियंत्रण रेखा पार कर पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर में जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों को ध्वस्त कर दिया है." 

पाकिस्तानी आर्मी के प्रवक्ता आसिफ़ गफ़ूर ने क्या ट्वीट किया -  

" भारत के लड़ाकू विमान मुज़फ़्फ़राबाद सेक्टर के भीतर तीन से चार किलोमीटर भीतर घुस आए थे लेकिन पाकिस्तान के तत्काल जवाबी कार्रवाई के बाद उन्हें पीछे हटना पड़ा." इसके बाद भारत का मीडिया नेशनलिजम के युद्धाभ्यास में व्यस्त हो गया। यहाँ ये भी समझना ज़रूरी है कि ये कैंप घने जंगलों में एक पहाड़ी पर था जो आम आबादी वाले इलाक़े से दूर है."

बीबीसी की रिपोर्ट से - 

बालकोट निवासी , चश्मदीद नम्बर 1- "सुबह तीन बजे का टाइम था, आई. ऐसा लगा ज़लज़ला आया हो. हम रातभर नहीं सोए. पांच-दस मिनट बाद हमें पता चला कि धमाका हुआ है. पांच धमाके एक ही समय हुए और कई ज़ख़्मी हो गए. फिर कुछ देर बाद आवाज़ आनी बंद हो गई."सुबह हम देखने उस जगह गए जहां धमाके हुए थे, वहां बड़े गड्ढे हो गए थे. कई मकान भी क्षतिग्रस्त हो गए थे. एक व्यक्ति ज़ख़्मी भी दिखा"

बालकोट निवासी , चश्मदीद नम्बर 2-  "मैंने धमाके  की आवाज़ सुनी.ऐसा लगा जैसे कि कोई राइफ़ल से फ़ायर कर रहा हो. तीन बार धमाके की आवाज़ सुनाई दी, फिर ख़ामोशी छा गई."

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट से - 

चश्मदीद नम्बर 3 -  यहाँ पर किसी का नुक़सान नहीं हुआ । हमने सिर्फ़ चार बजे एक आवाज़ सुनी 

चश्मदीद नम्बर - 4- "मैं यहाँ का मुक़ामी हूँ । यह तक़रीबन तीन से चार बजे के बीच  कुछ धमाकों की आवाज़ें आयी हैं ।इसके बाद रात के टाइम कुछ पता नहीं चला है कि क्या हुआ है ।सुबह के टाइम जिस वक़्त इस चीज़ की इत्तला मिली है कि यहाँ जंगल में कुछ हुआ है । तो सुबह जा के देखा की एकदम वीरान जंगल है और जो शमके हुए ,उन्मे कोई जानी -नुक़सान नहीं हुआ है ।"

अब बीबीसी की ग्राउंड रिपोर्ट -

" भारतीय विध्वंसक विमानों ने जिस जगह हमला किया है, उसे जाबा कहते है. यह मानशेरा शहर और बालाकोट के बीच स्थित है. जाबा अपने भेड़ पालन उद्योग के लिए मशहूर है. यह एक बड़ा सा गांव है. इसलिए हमले के बाद गांव वाले उस जगह पहुंच गए जहां भारतीय विमानों ने पेलोड गिराए थे.इन ग्रामीणों को हमले की जगह पर ना तो किसी का शव मिला और ना ही कोई घायल ही मिला. ग्रामीणों से मिली जानकारी के मुताबिक एक मकान जरूर क्षतिग्रस्त हुआ है लेकिन वहां भी कोई घायल नहीं मिला."

जाबा बटरासी के नज़दीक है, बटरासी के वन्य क्षेत्र में पाकिस्तान का स्काउट कैडेट कॉलेज स्थित है, लेकिन उसे कोई नुकसान नहीं पहुंचा है.जाबा और मानशेरा पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर से सटा हुआ इलाका है. यहां से सीधी सड़क पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर की राजधानी मुजफ़्फराबाद तक जाती है. "

इसके अलावा रिपोर्ट्स ने फैलायी जा रही फ़ोटो ,वायरल हो रहे विडियो को फ़ेक बताया है। पाकिस्तान ने अब तक हमले में किसी की भी मौत को स्वीकार नहीं किया है। भारत सरकार ने स्वीकार किया कि पाकिस्तान ने एक  मिग-21 लड़ाकू विमान गिराया है  और एक पायलट ग़ायब है।












Comments