अपहरण कर्ताओं ने इन दो मासूम की हत्या कर लाश को जंजीर से बांध कर फेंक दिया



www.hindidakiya.com

अपहरण कर्ताओं ने इन दो मासूम की हत्या कर लाश को जंजीर से बांध कर फेंक दिया

आज से 13 दिन पहले चित्रकूट की सीमा से सटे मध्य प्रदेश के सतना में सद्गुरु पब्लिक स्कूल से 12 फरवरी को आयुर्वेदिक तेल कारोबारी ब्रजेश रावत के दोनों बच्चों को अपहरण कर लिया गया था।

पर आज बांदा जिले के बबेरु थाना क्षेत्र में यमुना नदी में इन दोनों बच्चों की लाश जंजीर से बंधी हुई मिली। शवों की हालत देखकर जाहिर है की हत्या तीन से चार दिन पहले हुई है।
दोनों बच्चों के नाम प्रियांश व श्रेयांश थे। दोनों 6 वर्ष के थे।


12 फरवरी को दोनों बच्चों को अगवा कर लिया गया था।

एक दिन पहले ही मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पुलिस अफसरों की बैठक में इस अपहरण के बारे में सवाल किए थे।

  • इन दोनों बच्चों को ढूंढ ने के लिए उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के 26 पुलिस ऑफीसर्स की एक STF टीम बनाई गई थी पर ये टीम भी दोनों बच्चों को समय से बचाने में फेल रही।

अब लोगों में पुलिस के खिलाफ आक्रोश है। स्थानीय लोगों ने पुलिस की गाड़ी तोड़ दी है। इसके बाद पुलिस ने भी हालात को देखते हुए आंसू गैस के गोले छोड़े। पुलिस ने क्षेत्र में धारा 144 लगा दी है।

मध्य प्रदेश के विधि मंत्री पीसी शर्मा ने घटना की जिम्मेदारी यूपी पर डालने की कोशिश की। शर्मा ने कहा है कि यूपी के गिरोह एमपी में घुसपैठ कर रहे हैं। 

वहीं मध्य प्रदेश के नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने ट्वीट किया है कि कमलनाथ सरकार में अपहरण और ट्रांसफर उद्योग फल-फूल रहा है। भार्गव ने मामले में न्यायिक जांच की मांग की है। वहीं रीवा में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज चौहान ने इस सरकार को ‘बंटाधार रिटर्न्स’ कहा है।


बीजेपी इसके लिए मध्य प्रदेश के गृहमंत्री का इस्तीफा भी मांग रही है, जबकि कांग्रेस यूपी सरकार को घटना का दोषी बता रही है।

घटना को लेकर यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का भी ट्वीट आया है। अखिलेश ने दोनों प्रदेशों की सरकारों की खबर ली है। उन्होंने कहा है कि- “हालात ऐसे हैं कि मां-बाप बच्चों को स्कूल भेजने से भी डरेंगे।














Comments