क्या सच में मोदी जी बूथ पर लगे कैमरे से आपके वोट पर नजर रखे हुए हैं



www.hindidakiya.com

गुजरात की दाहोद लोकसभा सीट पर चुनाव प्रचार करते हुए बीजेपी विधायक रमेश कटारा ने बेहद अजीब और आचार संहिता का उल्लंघन करने वाला बयान दिया है। रमेश कटारा ने कहा है कि पीएम नरेंद्र मोदी हर बूथ पर कैमरे से नजर रखे हुए हैं, जहां से बीजेपी को कम वोट मिलेंगी, वहां सरकार की कम सुविधाएं दी जाएंगी।

गुजरात में लोकसभा चुनाव 2019 का प्रचार कर रहे बीजेपी विधायक ने लोगों से अजीबोगरीब बातचीत की है। फतेपुरा से विधायक रमेश कटारा ने लोगों से कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कैमरे से हर एक बूथ पर नजर रखे हुए हैं कि बीजेपी और कांग्रेस को वोट मिल रहे हैं। रमेश कटारा ने आगे कहा कि आधार कार्ड और पैन कार्ड पर आप सभी के फोटो लगे है, अगर ऐसे में किसी बूथ से बीजेपी को कम वोट मिलते हैं तो उन्हें सरकार की कम सुविधाएं दी जाएंगी।


दाहोद लोकसभा सीट के लिए जनसभा को संबोधित करते हुए रमेश कटारा ने कहा कि अगर चुनाव में बीजेपी को कम वोट मिलेंगे तो पीएम मोदी घर बनाने के लिए आपके बैंक अकाउंट में पैसा भी नहीं डालेंगे।

भाजपा विधायक रमेश कटारा के इस बयान की एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो गई, जिसपर कार्रवाई करते हुए जिला निर्वाचन अधिकारी ने रमेश कटारा को नोटिस जारी करते हुए 24 घंटे के अंदर जवाब देने के लिए कहा है।

बीजेपी विधायक को नोटिस जारी करने वाले जिला निर्वाचन अधिकारी और कलेक्टर विजय खराड़ी ने कहा कि वीडियो में जो आवाज है, वो विधायक रमेश कटारा की है।चुनाव के दौरान यह बयान आचार संहिता का उल्लंघन करता है, जिसे लेकर एमएलए को नोटिस जारी किया गया है।
दाहोद लोकसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी और केंद्रीय राज्य मंत्री जसवंत सिंह भाभोर ने रमेश कटारा की वीडियो को लेकर कहा कि उन्हें लगता है, रमेश कटारा ने गलती से यह कह दिया और अगर उन्होंने ऐसा कहा भी है तो वोटर्स इस बात पर पूरी तरह विश्वास नहीं करेंगे।

वहीं बीजेपी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री पुरुषोत्तम रुपाला ने भी विधायक रमेश कटारा की वीडियो पर प्रतिक्रिया दी है। केंद्रीय मंत्री ने कहा है कि भाजपा या किसी भी पार्टी के विधायक का इस तरह का गलत व्यव्हार बिल्कुल भी ठीक नहीं है।

बता दें कि हाल ही में बीजेपी के स्टार प्रचारक योगी आदित्यनाथ, बसपा चीफ  मायावती, सपा नेता आजम खान जैसे कई बड़े नेताओं पर गलत बयानबाजी के चलते चुनाव आयोग ने कड़ी कार्रवाई की है. ऐसे में जिला निर्वाचन अधिकारी ने विधायक रमेश को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।














सोर्स- इन खबर





Comments