महिला पुलिस की टीम ने जंगल में रेकी कर अरेस्ट किया खतरनाक अपराधी को




गुजरात की एंटी टेररिस्ट स्क्वॉड (ATS) ने 4 मई 2019 को बोटाड के जंगलों से अल्लारखा जुसब नाम के एक खूंखार अपराधी को पकड़ने में एक बड़ी सफलता हासिल की है। गुजरात एटीएस टीम की 4 महिला पुलिसकर्मियों ने बहादुरी की मिसाल कायम रखते हुए जूनागढ़ के जंगल से इस शातिर अपराधी को गिरफ्तार किया है।

बताया जा रहा है कि ये लूट, हत्या, फिरौती लैंड ग्रेबिंग और चोरी के करीब 23 गुनाहों में शामिल खतरनाक अपराधी है।अल्लारखा जुसब जूनागढ़ के लोगों और पुलिस के लिए सिर का दर्द बना हुआ था। इसकी गिरफ्तारी से जूनागढ़ पुलिस ने राहत की सांस ली है।

बता दें कि जूनागढ़ जिले का रहने वाला जूसब पिछले साल जून में पैरोल पे छूटा था और उसके बाद वो फरार हो गया था जिसके बाद भी उसने हत्या जैसे गंभीर गुनाहों को अंजाम दिया। लोकल पुलिस को उसे पकड़ने में मुश्किलें इसलिए आ रही थीं क्योंकि वो अपने गुनाहों को अंजाम देकर जंगलों में छुप जाता था। बाद में ये मामला एटीएस को सौंपा गया जिसे इस महिला टीम ने बखूबी पूरा किया।

महिला PSI की एक टीम को हाल ही में ATS में शामिल किया गया है। इन पुलिस सब इंस्पेक्टर्स के नाम है- संतोजबेन ओडेडरा, नितिमिका गोहिल, अरुणाबेन गामिती और शकुन्तला मल। महिला पुलिस इंस्पेक्टर्स के जरिए नामचीन डॉन की गिरफ्तारी गर्व और चर्चा का विषय बनी हुई है।






सोर्स - इंडिया TV





Comments