बेटे ने किया बाप का कत्ल, नशा करने से रोकता था बाप

By - हिंदी डाकिया

www.hindidakiya.com

बाप हमेशा अपने बेटे की जिंदगी की सलामती के लिए देवी देवताओं के दर पर माथा टेकता है। लेकिन वही बेटा अगर बाप की जिंदगी की सलामती के बावजूद उसकी हत्या कर दे तो बाप-बेटे का रिश्ते तारतार हो जाता है। ऐसा ही वाक्या एक कलयुगी बेटे ने कर दिया जहां बाप बेटे का रिश्ता हमेशा के लिए खत्म हो गया। 

घटना मुंबई आरे कॉलोनी की हद का है जहां अजय पांडेय नामक 20 वर्षीय कलयुगी बेटे ने अपने साथियो के साथ मिलकर अपने पिता की निर्मम हत्या कर रात के अंधेरे में जंगल मे फेक दिया। बेटा अजय पांडेय ने अपने पिता रामायण चंद्रमा प्रसाद पांडेय 45 वर्ष की हत्या सिर्फ इसलिए कर दिया कि बाप ने बेटा के द्वारा कमाए गए रुपयों से ऐय्यासी करने से मना करता था।

दरसल अजय नशा और ऐय्यासी का आदति हो चुका था जिसको हमेशा पैसो की जरूरत लगती थी लेकिन बाप हमेशा अजय को नशा व गलत काम करने से रोकता था। लेकिन अजय को बाप की बात बुरी लगती थी।

घटना 4 मई की रात करीब 10 बजे की है जहां अजय पांडेय अपने पिता से पैसों की मांग कर रहा था लेकिन पिता ने बेटे को पैसा देने से मना कर दिया। उसी समय अजय अपने साथी पिंटू पांडेय और टेम्पो चालक दोस्त से प्लानिंग करके धारदार हथियार से अपने पिता रामायण पांडेय की हत्या कर दिया और लाश को कंपनी के टेम्पो में डालकर आरे कॉलोनी के जंगल मे फेक दिया। और खुद पिता की हत्या होने की शिकायत आरे पुलिस को दी।

हत्यारा अजय के गांव वालों ने बताया कि मृतक रामायण पांडेय इलाहाबाद मेजा तहसील,पताई दांडी का रहने वाला है। जो गोरेगॉव में वंशु एक्वा पैकिंग ड्रिंकिंग वाटर कंपनी में सिक्योरिटी गार्ड का काम करता था। उसी कंपनी में रामायण का बेटा अजय पांडेय काम भी करता है। हत्या के बाद अजय और पिंटू पांडेय मिलकर टेम्पो चालक की मदद से MH 48 AG 3693 टेम्पो से मृतक को ठिकाने लगाने का काम किये थे। फिलहाल आरे पुलिस पूरे मामले में आरोपी अजय और पिंटू से पूछताछ कर रही है।




साभार -  www.billasamachar.com







Comments